fbpx

गले मैं होने वाली खराश और बलगम से बचने के लिए क्या करना चाहिए ? ( Home Remedies for Soar Throat )

गले मैं खराश ( soar throat ) ये एक आम बात है. ऐसे लोग बोलते है. हमारे शरीर मैं फेफड़ो के निचे एक तरल पदार्थ होता है. उसे ही हम कफ, बलगम और गले मैं खराश इस नाम से जानते है. मौसम के बदलने से बहुत तकलीफ होती है. सर्दी, जुखाम से गला ख़राब होनी की संभावना होती है.

अगर गला ख़राब है तो, इतनी परेशानी होती है. ये मैंने भी देखा है. कारण, मुझे भी सर्दियों के मौसम मैं कफ होना, जुखाम होना. इन समस्यों से गुजरना पड़ता था. ठीक तरह से खा भी नहीं सकते थे. और उसके बाद बुखार, खोकला आना. ये saari बीमारी चालू हुई. but, एक बात समज मैं नही आई थी. की, सबकुछ अच्छा होने के बाद भी मतलब कफ के बाद बीमार मैं कैसे पड़ गया ? ये बात मैंने डॉक्टर से पूछ ली. तब डॉक्टर भी बोले, गले की खराश एक शुरुवात है बीमारियोंकी. तब से मैं बहुत सतर्क रहता हूँ. लेकिन इस समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते है. हाँ आप सही सुन रहे है. क्या करना चाहिए का ये आर्टिकल आखिर तक पढ़िए. आपको समाधानकारक उत्तर मिल जायेगा.

आयुर्वेद मैं खांसी की वजह वात, पित्त और कफ के असंतुलन से होता है. आम तोर पर दो type है गला ख़राब होने के. एक जिस मैं कफ और बलगम आता है. और दूसरा जिसमैं कफ नहीं आता है. अगर खराश जल्दी ठीक नही हो रही तो, इससे इन्फेक्शन भी हो सकता है. इसलिए गला खराब ( soar throat )  होने के बाद तुरंत आपको इसके उपर इलाज करना चाहिए. और कोरोना वायरस के कालखंड मैं गले की खीच खीच इन चीजो से दूर ही रहना चाहिए.

अब जान लेते है. कुछ आपके सवाल जो अपने सर्च किये गए है.

  1. गले मैं खराश का उपचार.
  2. गला दर्द ?
  3. कफ का इलाज.
  4. गले मैं कफ कैसे दूर करे ?
  5. कफ मैं क्या खाना चाहिए?
  6. Garmi me छाती मैं कफ जमने पर क्या करे?
  7. गले मैं कफ जमने का कारण क्या है ?
  8. बलगम का आयुर्वेदिक उपचार.
  9. गले मैं बलगम का घरेलु उपाय.
  10. कफ निकलने के आयुर्वेदिक उपाय.

गले मैं खराश or कफ क्या है ? ( What is sore throat )

गले मैं खराश or कफ क्या है ? ( What is sore throat )

गले मैं खराश एक उपरी श्वसन मार्ग मैं होने वाला संक्रमण है. यह संक्रमण गले के रेस्पिरेटरी म्मुकोसा के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकता है. गले मैं खराश का कारण जिव bacteriya हो सकता है. जिन मैं स्ट्रेप्तोकोकस सबसे आम bacteriya है. इससे गले मैं संक्रमण होने की की संभावना होती है. गले मैं कुछ अजीब सा महसूस होता है.

एक simple भाषा मैं गले मैं पानी पीते time, खाते time दर्द करना. अजीब सी बैचैनी होती है. और गले मैं खीच खीच होती रहती है. इसे ही बलगम or कफ बोलते है. अगर तुरंत इलाज न करने से इन्फेक्शन से बीमार भी पड़ सकते है.

गले मैं खराश के प्रकार कौन से है ? (types of sore throat in Hindi)  

मुख्य दो प्रकार है.

  1. वायरल थ्रोट – जब किसी को गले मैं खराश वायरल के कारण होती है. तो उसे वायरल थ्रोट कहा जाता है.
  2. बैक्टेरिया थ्रोट – गले मैं बैक्टेरिया के कारण होने वाले खीच खीच को बैक्टेरिया थ्रोट कहते है.   

गले मैं खराश के लक्षणे ( symptoms of sore throat ) 

गले मैं खराश के लक्षणे ( symptoms of sore throat ) 
  • गले मैं दर्द and खराश.
  • पानी और खाना निगलने ने मैं परेशानी.
  • गले का लगातर सुखना.
  • गले मैं अजीब सा फील होना.
  • गले मैं कफ जमा होना, और चिप चिप जैसा फील होना.
  • सर मैं दर्द.
  • गले का लगातार सुखना.
  • बुखार और खांसी आना.
  • आवाज भी खराब होना .

गले मैं खराश होने के कारण ( soar throat causes in Hindi )  

गले मैं खराश होने के कारण ( soar throat causes in Hindi )  
  • जुखाम और सर्दी होना.
  • फ्लू होना.
  • वायरल इन्फेक्शन होना.
  • एलर्जी होना.
  • बैक्टेरियल इन्फेक्शन होना.
  • एकदम ठंडा पानी पिने से.
  • अगर कोई कभी गरम और कभी ठंडा पानी पिने से.
  • एकदम से oliy खाना खाना.
  • किसी को अगर सर्दी, बुखार आया है. तो, उसके चीजे use करने से.
  • वायुप्रदुषण.
  • अधिक धुम्रपान और शराब पिने से.
  • अलेर्जी की वजह से खांसी आने के बाद.
  • गर्भनिरोधक और blood प्रेशर की गोलियों से.
  • प्रेगनेंसी.
  • फेफड़ो के सबंधी की रोग से.
  • गले मैं सुजन.

गले मैं खराश हो तो कैसे जीवनशैली होनी चाहिए ? ( lifestyle during a soar throat )

गले मैं खराश हो तो कैसे जीवनशैली होनी चाहिए ? ( lifestyle during a soar throat )
  • जब भी प्यास लगे तब गुने गुने पानी का सेवन करे.
  • अगर गले मैं बहुत ज्यादा दर्द हो रहा हो तो, गरम पानी मैं अद्रक डाले. और उसे उबालकर. सिप सिप करके पानी पिए.
  • खाने मैं मुग की दाल और rice का इस्तिमाल करे.
  • अद्रक और इलाइची वाली चाय पिए.
  • नींद पूरी तरह ले. लगबग ७ से ८ घंटे की.
  • सुबह सुबह तुलसी के पत्ते खाए.
  • हो सके तो मसालेदार और oily meal से दूर रहे.
  • गरम पानी से ही नहिये. इससे आपका कफ बाहर भी आ सकता है.
  • अगर बाहर ठंडी हवा चल रही है तो, घुमने मत जाइये. इससे आपको बुखार हो सकता है.
  • ठंडी पदर्थो से दूर ही रहिये. like, ice-cream.
  • काला नमक और अद्रक को मिक्स करके उसका सेवन करे.
  • सुबह गरारे करना चाहिए.

गले के खराश से बचने के लिए घरेलु उपाय ( Home Remedies for soar throat )  

गले के खराश से बचने के लिए घरेलु उपाय ( Home Remedies for soar throat
  1. मुलेठी के गाठ को मुह मैं चबाकर खाए. ये एक बहुत ही अच्छी दवाई है. इससे आपका throat infection जल्दी कम हो जायेगा. और गले की खीच खीच भी कम हो जाएगी.
  2. अद्रक एक अमृत जैसी दवा है. उसको आप काला नमक के साथ भी खा सकते है. और इसको चबाकर भी खा सकते है. और गरम पानी मैं उबालकर पानी पि सकते है.
  3. अंजीर को पानी मैं डालकर उबाले. और सिप सिप करके पिए. अंजीर गले की खराश के लिए बहुत अच्छा साबित होता है.
  4. तुलसी के पत्तो को पानी मैं डाले. उस मैं काला नमक डालकर उबाले. ये एक गुणकारी औषध है.
  5. गले की खराश के लिए शहद एक बहुत ही कारगिर औषद है. इस से गले की सुजन भी कम होती है.
  6. लह्सुन मैं एंटी बैक्टीरिया तत्व पाए जाते है. इससे गले के संक्रमण पे काबू पा सकते है.
  7. अगर आप दूध मैं हल्दी डालकर पि लेंगे. इससे आपका गले का संक्रमन कम होगा.
  8. काला नमक के गरारे रोज सुबह करे. इससे गले की खीच खीच कम हो जाएगी.
  9. ग्रीन टी पिने से गले मैं होने वाले दर्द से राहत मिल जाती है.
  10. गले की खराश के लिये प्याज को छिलके और निम्बू का रस मिलाकर उबले. और उस मैं शहद मिलाले. इससे आपको अच्छी राहत मिलेगी.
  11. लवंग को भी चबाकर खा सकते है.
  12. नीम के पत्तो कर पानी मैं डालकर उबाले. और उसका पानी पि लीजिये.
  13. vicks गोली का भी सेवन कर सकते है. जिससे आपके गले को ठंडक पहुच जाएगी.

अगर आपको घरेलु नुस्के का use करके कुछ फायदा नहीं हो रहा है. तो, आपको डॉक्टर से बात करनी चाहिए. but, मेरा ये मानना है. की, इसमें कौन से नुस्का का use करके आपको गले की खराश ( soar throat ) से छुटकारा मिल सकता है. और क्या करना चाहिए पे आपको ऐसे छोटे मोटे समस्या के solution मिल जायेंगे.   

Leave a Comment