fbpx class="post-template-default single single-post postid-445 single-format-standard wp-embed-responsive everest-forms-no-js post-image-below-header post-image-aligned-center sticky-menu-fade mobile-header right-sidebar nav-below-header separate-containers nav-search-enabled header-aligned-left dropdown-hover featured-image-active elementor-default elementor-kit-439" itemtype="https://schema.org/Blog" itemscope>

बिज़नेस अच्छा या नौकरी, क्या करना चाहिए ?

lockdown के बाद लोगो की नौकरिया चली गई है. तो अभी समज मैं नहीं आ रहा है. बिज़नेस अच्छा या नौकरी. आखिर किसे चुने हमारे आगे के carrier के लिए. ऐसा एक बहुत बड़ा सवाल अभी हमारे सबके सामने है. लेकिन, कुछ टेंशन लेने की बात नहीं है. क्या करना चाहिए से आपको एक समाधान उत्तर मिलेगा. इससे पहले मुझे कुछ कहना है, हर किसी के ब्लॉग मैं सिर्फ दोनों का अंतर बताया गया है. अंतर जान के लोगो को ये तो नहीं समज मैं आयेगा. की बिज़नेस करू या नहीं ? या वापस नौकरी करू? otherwise, अगर कोई अपनी सरकारी नौकरी छोड़ के बिज़नेस चालू करेगा क्या कोई ? ये सारे सवाल मेरे सामने आ गए. तो हमने इसका एक अलग content देने का try कर रहे है. इस content मैं आपको सारे सवालो के answer मिल जायेंगे.

हाँ मुझे पता है. आप १०० % sure नही हो. की क्या करना है. जॉब या बिज़नेस ? और आपका एक चीज से ज्यादा confusion बढेगा. अगर आप कोई नौअरी करने वाले इंसान के पास जाओगे. तो ओ उसका अपना experience लेकर बोलेगा. नौकरी ही अच्छी है. कहा struggle-waggle करनें का. मस्त २ साल जॉब करके शादी करनें का. और आप किसी बिज़नेस मैन के पास जाकर बोलोगे. तो उसके experience लेकर बोलगे. शुरुवाती मैं थोडा problem आता है. but, बादमें आराम से काम होता है. ऐसा एक बहुत बड़ा confusion आपके सामने खड़ा होता है.

कम लागत का बिज़नेस छुपा है मेरे example मैं :

मै आपको मेरे दोस्त का real example देता हूँ. अभी ये दुसरा lockdown चल रहा है. बत पाहिले lockdown के समय मैं उसकी टाटा consultancy से जॉब चली गयी है. एकदम secure जॉब थी. कोई टेंशन नहीं था. सब सही था. उसके बाद ओ थोडा depress हो गया. हमने उसे बहुत समजाया. कुछ दो तीन महीने के बाद normal हुआ था. फिर किसी दिन बोला कुछ तो करना चाहिए. कितने दिन ऐसा खाली हात बैठा रहू. और गरीब घर का था. इसिलए घर चलने के लिए उसे कुछ तो करना पड़ेगा. १ महीने के बाद उसने थोडा मार्किट का study किया. उसने देखा की लोग सिर्फ बाहर morning walk के समय ही बाहर पड़ते है. लोग तब जरुरत की चीजे खरीदते है. but, उसमें भी थोडा बहुत competition हो गया था. उसने देखा कोरोना से इमुनिटी पॉवर कम होती है. इसीलिए लोग walking, running और fruit भी लेकर जाते है. then उसके दिमाग मैं एक idea आया. उसने जो हमारे इमुनिटी बूस्टर fruit है. उसका जूस बेचना चालू किया. आवला, कडूलिंब, करेला, गाजर, बिट, तुलस, पुदिना etc. इन सबका juice बेचने लगा. धीरे धीरे fruit बेचें लगा. then juice सेंटर खड़ा किया. और अब दुसरे lockdown मैं होम delivery से juice बेच रहा है. इतना मार्केट डाउन होके भी अच्छा खासा बिज़नेस चला रहा है. ऐसी परिस्तिथि मैं ओ जॉब से दुगना कम रहा है. सोचो lockdown open होने के बाद कितना अच्छा बिज़नेस बढ़ जायेगा. अब आप ही बताओ, बिज़नेस अच्छा या नौकरी. मुझे लगता है, आप को इस story से ही answer मिल गया होगा.

बिज़नेस करने से क्या होता है?

  • शुरुवाती मैं आपको अपने बिज़नेस के लिए बहुत काम करना पड़ता है. उसके साथ एम्प्लोई से काम करवाके लेना भी पड़ता है. कुछ दिन के बाद आपके अनुपस्तिथि मैं भी बिज़नेस चालू रहता है. और पैसे का चलन हर रोज चालू रहता है.
  • बिज़नेस करने के लिए कोई डिग्री और सर्टिफिकेट की जरुरत नहीं होती. हाँ but किसी को आपके कंपनी मैं काम करना हो तो, उसे सर्टिफिकेट की जरुरत जरुर होगी.
  • आप २४ घंटे काम कर सकते है. समय की कोई पावंदी नहीं है. becasue जो भी time invest हो रहा है. ओ आपके growth के लिए होती है. किसी के rule and order सुनने की जरुरत नहीं रहती. यहाँ पे आप ख़ुद बॉस है.
  • बिज़नेस करते टाइम आप हमेशा knowledge लेने के भूके रहते हो. technology के साथ आप भी upgrade होते हो.
  • कोनसे भी टाइम आपको लाखो, करोडो रुपये मिल सकते है. आपको हर दिन पैसे मिल सकते है.  
  • एक टाइम के बाद आपको पैसे के लिए काम करना नहीं पडता. बल्कि, पैसा आपके लिए काम करता है. आप सोते टाइम भी पैसे कमाते रहेंगे.
  • कितनी भी बड़ी समस्या आई फिर भी आपको पैसे की problem नहीं आयेगी.
  • बिज़नेस के पैसे से आप कोई और भी बिज़नेस चालू कर सकते है.
  • जितनी बढ़ी risk लोगे उतने ही बड़ी growth हो सकती है. हाँ but पैसे डूबने के भी chances होते है. सो calculative risk लेना जरुरी है.
  • आप अपने फॅमिली को भी टाइम दे सकते है. vacation और छुट्ठी पे भी जा सकते है. खुद के साथ अपने परिवार को ख़ुशी दे सकते है.
  • बिज़नेस मैं उम्र की कोई पावंदी नहीं है. जब तक चाहो तब तक काम कर सकते हो. और जब चाहो तब बिज़नेस चालू कर सकते हो.
  • अपने खुद के सपने पुरे कर सकते हो. एक लक्जरी life जी सकते है. जीवन मैं कभी असमाधान महसूस नहीं होगा.
  • एक बिज़नेस से और बहुत सारे passive income चालू कर सकते है. उससे आप एक अमीर और सफल आदमी बन जायेंगे.
  • अपने decision आप खुद ले सकते है. और कुछ गलती हुई भी तो उससे कुछ सिख कर आगे बढ़ सकते है.
  • बिज़नेस करने वाला आदमी एक न एक दिन सफ़लता उसके कदमो मैं आकर झुक ही जाती है.

नौकरी और जॉब करने से क्या होता है?

नौकरी किसे कहते है
  1. आप किसी के under काम करते है. ओ एक आदमी और ओ एक company हो सकती है. नहीं तो ओ एक सरकारी दफ्तर हो सकता है. जिसे आपको पैसे मिलते है. उसे कहते नौकरी और जॉब करना कहते है.
  2. आपने जो डिग्री हासिल की है. उसके हिसाब से आपको कोनसा तो skill के basis पर आपको नौकरी मिलती है. अगर अपने सिविल इंजीनियरिंग की है. तो आपको structure design और site इंजिनियर ऐसा जॉब लग सकता है.
  3. आप ३० दिन काम करोगे उसके basis पर जो भी पेमेंट decide हुआ है. ओ आपको next month के १ ते १० तारीख के बिच मैं मिलता है. किसी company मैं २० तारीख को भी देते है. जो fact है वाही बता रहा.
  4. आपको जो टाइमिंग आपके कंपनी ने बताई है. वही टाइम को आना है. वही टाइम को जाना है. अगर किसी दिन छुट्टी चाहिए हो तो permission लेनी पड़ेगी.
  5. एक ही skill के साथ आपका करना पडत है. मतलब designer हो तो. जीवन भर design ही करना पडता. कोई अलग experience नहीं होगा. continuous learning तो कभी नही होगी.
  6. एक साल और दो साल के बाद इन्क्रीमेंट होती है. कभी कुछ emergency मैं हमारे पास पैसे नहीं होगे. अगर saving की है. तो, थोड़ी बहुत मदत होगी. but कोई बड़ी amount adjust नहीं होगी.
  7. आप अगर काम करोगे तब ही आपको पैसे मिलते है. आपने एक भी दिन छुट्टी लेली तो उस दिन का पेमेंट आपको मिलेगा नहीं.
  8. नौकरी करते टाइम आपको किसी भी टाइम आपको निकाल सकते है. और उम्र होने  पर आपको निवृत होना पड़ता है.
  9. आपको लोन मिलना बहुत मुश्किल होता है. सरकारी नौकरी हो तो लोन मिल जाता है. और उसे चुकाते चुकाते पूरी life उसी मैं चली जाती है.
  10. परिवार को ज्यादा टाइम देने को नहीं आयेगा. हमेशा आपके बॉस के टारगेट     complete करने मैं लग जाते हो. becasue दुसरे दिन आपको अपमान सहन नही करना पड़े.
  11. आप कितना भी काम कर लो. but, इसमें growth आपकी कभी नहीं होगी. आप जहा पे काम कर रहे हो. उनका ही फायदा होगा.
  12. extra income करनें का मौका नहीं मिलता. company के कामो मैं ही उलजे रहोगे.
  13. सपने पूरा करने का मौका नहीं मिलता. becasue आप आपके कंपनी के सपने पुरे कर रहे होते है. एक लक्ज़री life जीने को मौका नही मिलता.
  14. कभी अमीर नहीं बन पाओगे. और decision लेने की permission नहीं होती है.
  15. दोस्तों लास्ट point थोडा अलग से define करता. अगर किसी को नौकरी मैं संतुष्टि मिलती है. मतलब की कोई सपने नहीं. कुछ expectation नहीं जीवन मैं. simple life जिनी है. तो करो नौकरी.

मुझे और भी कुछ नौकरी के बारे मैं तथ्य बताने है. देखो दोस्तों, जमाना तेजी से बढ़ रहा है. कोरोना के बाद technology और भी update हो चुकी होगी. पूरा मार्किट डिजिटल होनेवला है. और एक नई चीज, artificial intelligence के रोबोट्स बहुत तेजी से नौकरी की संख्या कम कर रही है. अपने सुना होगा, automatic गाड़िया आ चुकी है. मतलब ६०% ड्राईवर लोगो का market खत्म हो जायेगा. ऐसे कितने जॉब है जो repetative है. जहा पे क्रिएटिविटी नहीं है. skill की कोई जरुरत नहीं है. इसिलए आपकी नौकरी और जॉब खतरे मैं तो नहीं ना ? ये सुनिश्ति कर ले. बिज़नेस अच्छा या नौकरी. इसमें क्या करना चाहिए. इसका समाधानकरक answer आपको मिल गया होगा. ऐसी मैं आशा करता हूँ.         

Leave a Comment