fbpx

हस्तमैथुन कितनी बार करना चाहिए ?

हस्तमैथुन आज कल बहुत ही ट्रेंडिंग टॉपिक चल रहा है. मतलब, कितना बड़ा टॉपिक create कर चुके है. बढ़ते उम्र के साथ हमारी बॉडी की कुछ जरूरते होती है. खुदकी ख़ुशी के लिए कर लेते है masturbation. इसमें इतना surprise होनी की कुछ बात नहीं है. आज भी कुछ लोग इसपर खुलके बात नहीं करते है. बॉडी मैं जबसे वीर्य बनाना चालू होता है. तब से उन सब लडको- लड़की को उसका knowledge देना चाहिए. नाकि, उस टॉपिक को ignore करना चाहिए. masturbation कोई बीमारी नहीं है. ये मिथ दिमाग से निकल दीजिये. हमारे जीवन का हस्तमैथुन एक हिस्सा है. दुनिया मैं 72 % से ज्यादा लोग हस्तमैथुन करते है. और एक बात सुन लीजिये. महिलायें भी हस्तमैथुन करते है. और इस मैं कोई शरमाने की बात नहीं है. जैसे पुरुषो को संतुष्टि चाहिए रहती. वैसे उन्हें भी कुछ जरूरते होती है. हाँ किशोर अवस्था मैं ही हमारा वीर्य बनाना चालू होता है. but इसका ये मतलब नहीं है. आप हिलाना तभी से चालू करो. आपको अगर सेक्स की इच्छा हो गई तो कीजिये. नाकि, हर बार हस्तमैथुन करे. क्या करना चाहिए इस content मैं आपको अच्छी तरह समजा देंगे की हस्तमैथुन के फायदे और नुक्सान.

मुझे आपको masterbation के कुछ spiritual content भी देना है. हमारे वेदों मैं कहा गया है. वीर्य की रक्षा करनी चाहिए. ये भी बात गलत नहीं है. मनुस्मृति मैं बताया गया है. की, सबसे बाद नाश वीर्य नाश ही होता है. वेदों मैं बताया गया है की, जब हमारा वीर्य बनाना चालू होता है. लगबग १३ साल के उम्र मैं तब हमें गुरुकुल मैं भेजा दिया होता है. किशोर अवस्था से युवा अवस्था तक मतलब १३ – २५ साल की उम्र तक हमें गुरुकुल मैं सिखाया, पढाया जाता है. उसके बाद हमें शादी मतलब गृहस्ताश्रम मैं जाना होता है. और बुढ़ापे मैं सन्यास लिया जाता है. और भक्ति करनी होती है. यही life का क्रम है.

एक बात notice कीजिये,

  • शीघ्रपतन होना.
  • शुक्राणु की कमी होना.
  • लिंग मैं तनाव बनके नहीं रहना.
  • वीर्यपतन के बाद weakness आना.
  • etc.

ये saari सेक्स के related लोगो की problem क्यूँ आ रही है. इसके पीछे एक ही reason है. lifestyle और खान-पान. पुराने जमाने मैं किसी को भी शीघ्रपतन और शुक्राणु की कमी ऐसी समस्या नहीं आती थी. क्यूंकि, उन लोगो ने उनकी life सही तरह जियी थी. और आज कल के बच्चे क्या कर रहे है. किशोर अवस्था मैं ही हिलाना चालू किया. पोर्न जैसी चीजे देखना चालू किया है. कैसे उनकी क्रिएटिविटी बढ़ेगी?

आज कल की lifestyle मैं कहा गुरुकुल और कहा वेद. फिर भी मुझे लगता है. जितना हो सके उतना आप वीर्य की रक्षा कीजिये. मुझे ये नही बोलना है की, आप हस्तमैथुन करना छोड़ ही दो. एक बात ठिकसे समज लीजिये. आदत इस शब्द का अर्थ सही जान लीजिये. कोई भी चीज हादसे ज्यादा करोगे. तो, परेशानी और समस्या तो अणि ही अणि है. nature को ही देख लो. सब चीजे कैसी balanced होती है. balance word हमारे life का सबसे important हिस्सा है. हर चीज नियंत्रण मैं करना सीखो. अरे मेरे दोस्तों, उस कुत्ते को भी पता है. कब सेक्स करना है. एक इंसान ही ऐसा जानवर है. जो हर सीजन सेक्स करना चाहता है. just जोकिंग मैं ये लाइन बोली है. ज्यादा दिल पे मत लीजिये. नहीं तो आप भी सीजन वाइज सेक्स करना चालू कर देंगे.

इस content मैं आप की saari गलत फेमिया दूर कीजिये. चलो जान लेते है. आपकी समस्यायें निचे के प्रश्नों मैं.

  1. हस्तमैथुन के फायदे और नुक्सान  
  2. महिलाओं का हस्तमैथुन
  3. हस्तमैथुन से होने वाले रोग
  4. मास्टरबेशन न करने के फायदे
  5. मास्टरबेशन से होने वाली बीमारी
  6. कितनी बार हिलाना चाहिए?
  7. दिन मैं कितनी बार मास्टरबेशन करना चाहिए?
  8. मास्टरबेशन मतलब क्या होता है?
  9. हस्तमैथुन कैसे करते है?   

इन सारे प्रश्नों के उत्तर इस आर्टिकल मैं मिल जायेंगे.

हस्तमैथुन or मास्टरबेशन क्या है? और कैसे करते है?

हस्तमैथुन or मास्टरबेशन क्या है?

अपनी खुद की सेक्सुअल इच्छा पूरी करने के लिए खुद के हाथ से और कोई चीज इस्तिमाल करके वीर्यपतन कर देना. उसे हस्तमैथुन और masterbation  कहते है. जिससे शारीरक सुख मिलता है. इसके लिए opposite gender की जरुरत नहीं होती है, डॉक्टरो के हिसाब से इसका कोई time नही है. आपका मन जब चाहिए तब आप कर सकते है. masterbation कोई बीमारी नहीं है. यह पूरी तरह से healthy thing है. आप हस्तमैथुन कर सकते है. अपने शारीरिक जरुरत पूरा करने के लिए आप कर सकते है. हाँ अगर आपको इसकी लत लग गई तो, फिर इससे छुटकारे पाने थोडा कठिन जायेगा.. but हर ची balance से की गयी तो, कोई problem नहीं है. जैसे मैंने फर्स्ट para मैं बताया गया है.

पुरुष हस्तमैथुन कैसे करते है?

अगर सेक्स की इच्छा हुए तो, पुरुष अपने penis को अपने हाथ मैं पकड़कर हिलाते है. और climax वीर्यपतन ( ejaculation ) हो जाता है. इसके लिए कोई opposite पार्टनर की जरुरत नहीं होती है. आजकल, किसी चीज का मतलब सेक्सुअल टॉयज आये है. जो महिलाओं के योनी के आकर की होती है. उसका use करके वीर्यपतन करते है.

महिलाएं कैसे हस्तमैथुन करती है?

शारीरक संतुष्टि के लिए महिलाये अपनी खुद की फिंगर का use करती है. जिससे ओ चरमसुख पर पहुचती है. मार्किट मैं vibrater, सेक्स टॉयज आये है. जिसका use महिलाये masterbation के लिए इस्तिमाल करती है. जैसे पुरुषो को कामुकता की उत्तेजना होती है. वैसे ही महिलाओं को भी होती है. so, इसमें इतना शरमाने की बात नही है. हाँ थोड़ी private बात होती है. but, जिसको gf है. उसे जल्दी समज मैं आ जायेगा.  

content पढने वालो को एक सुचना इतना हैरान होनी की बात नहीं है. ये हमारे life का एक हिस्सा है. कुछ लोग खुलके बोलते है. कुछ लोग चुप्पी साद देते है.

हस्तमैथुन कितनी बार करना चाहिये ?

 हस्तमैथुन कितनी बार करना चाहिये ?

डोक्टरों के हिसाब से हस्तमैथुन करने का कोई time नही है. और कितनी बार करना चाहिए. ये भी हिसाब नही है. ये हर किसि के stamina के उपर रहता है. beacause, हर किसी का खान पान अलग होता है. lifestyle अलग होती. इमुनिटी पॉवर भी matter करती है.

और अगर आप १० वी मैं पढ़ रहे है. य अफिर १२ वी कर रहे है. तो, आप इन सारी बातो पर ध्यान मत दीजिये. carrier पर focus कीजिये. आप ना ही करे अच्छा है. but जो हमरे युआ है इनके लिए मैं खास कर के बता देता हूँ. कुछ भी हो but addicted मत हो. balance word हमेशा दिमाग मैं ले के चलिए.

देखिये life हमारी दुखो से भरी हुई है. कभी कभी स्ट्रेस free होने के लिए आप masterbation कर सकते है. डॉक्टर तो बता रहे है. वीर्य बहार निकल देना चाहिए. अगर अपने नही बाहर निकला तो, खुद nightfall से बाहर आ जाता है.

  • किसी को बहुत ही ज्यादा हवास है.. तो week मैं 2 बार कर लीजिये.
  • आप १० दिन मैं एक, दो  बार कर सकते है.
  • month ५, ६ बार कर सकते है.

देखिये इसका कोई हिसाब नही है. but, मुझे लगता है. balance मैं होना चाहिए. इसिलिए मैंने ये recommendation दिया है. चाहे तो आप इसे फॉलो कर सकते है. नही तो, आपकी मर्जी.

हस्तमैथुन के फायदे:

हस्तमैथुन के फायदे & नुकसान
  1. स्ट्रेस free होता है.
  2. नींद अच्छी लगती है.
  3. blood प्रेशर अच्छा होता है.
  4. कोलेस्त्रेओल level अच्छा होता है.
  5. शुक्राणु की quality अच्छी होती है.
  6. सेक्सुअल life अच्छी होती है.

हस्तमैथुन के नुकसान:

देखिये दोस्तों, जो लोग दिन मैं तीन तीन चार चार बार masterbate कर रहे है. और उनका वीर्य पानी की तरह पतला हो चूका है. फिर भी हस्तमैथुन डेली कर रहे है. उन लोगो के ये सारे नुकसान भुगतने पड़ेंगे.

  1. lazy होना.
  2. सेक्स की इच्छा कम होना.
  3. सेक्सुअल life मैं पार्टनर को संतुष्ट नहीं कर पाएंगे.
  4. weakness आना.
  5. चेहरा रुखा सुखा पड़ना.
  6. शीघ्रपतन होना.
  7. शरीर पिला पड़ जाना.
  8. बुढ़ापे मैं पीठ दर्द करना .
  9. घुटने मैं दर्द्द होना.
  10. ताकद कम होना.
  11. बालो का गिरना.
  12. बुढ़ापे मैं बहुत saari बीमारीओं का शिकार बनना.
  13. कब्ज की problem होना.
  14. जो खाया है. ओ शरीर का नहीं लगना.
  15. वजन नहीं बढ़ना.
  16. focus नहीं कर पाना.
  17. कंसंट्रेशन की कमी होना.
  18. क्रिएटिविटी कम होना.
  19. डिप्रेशन आता है.

हस्तमैथुन की लत से छुटकरा पाने के लिए क्या करना चहिये?

हस्तमैथुन की लत से छुटकरा पाने के लिए क्या करना चहिये?
  • अगर आप addicted हो तो मतलब दिन मैं ३,४ बार हस्तमैथुन करते हो तो, इसे कम करना ही सही बात है.
  • मन को नियंत्रण करना सिख लीजिये.
  • daily schedule बनाना सिख लीजिये.
  • अपने आप को busy कर लीजिये.
  • अकेले मत रहिये.
  • मोबाइल से दुरी बना लीजिये. जितना काम है उतना ही use कर लीजिये.
  • पोर्न जैसी चीजे देखना बंद कीजिये.
  • जब तक आदत छुट नहीं जाती. तब तक लडकिये से दुरी बना लीजिये.
  • भगवन का कीर्तन कीजिये.
  • chanting मैडिटेशन कीजिये.
  • भगवान का नाम एक divine energy है. so आपको अच्छा फील होगा.
  • healthy खान पान रखिये.
  • सुबह जल्दी उठना शुरू करो.
  • Running, एक्सरसाइज कीजिये.
  • आपने आप को improve करने की कोशिश कीजिये.
  • personal development ध्यान दीजिये.
  • कुछ एशिया goal और ड्रीम decide करो. उसक roadmap बनाये. और उसपे काम करो.

एक ऐसा भी दिन था, मैं भी हस्तमैथुन का शिकार था. लेकिन मैंने मेरी life को ठिकसे analyse किया. देखा. परखा. और उसपे काम करना शुरू किया. आज मैं बहुत बहुत खुश हूँ. और जो goal decide किया है. उसपर काम कर रहा. हाँ, मुश्किलें आती है. but उसका डट कर सामाना भी कर रहा. beacasue life मैं उपर निचे हो ही जाता है. और हमें उसे balance रखना है.

और हस्तमैथुन एक आदत है. अगर सच्चे मन से कोशिश करोगे तो जरुर उस लत से छुटकारा पाओगे. धन्यवाद!

Leave a Comment