fbpx

कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए क्या करना चाहिए ? ( Calcium Deficiency in Hindi )

Calcium Deficiency को नजर अंदाज नहीं कर सकते. कैल्शियम एक महत्वपूर्ण खनिज है. आज कल अपने सुना होगा. घर मैं आपको दादी बोलती रहेगी. ‘थोडा पैर दबा दे. या पीठ दबा दे.’ ये चीजे कैल्शियम के कमी कारण ही होती है. हमारे शरीर मैं कैल्शियम हड्डिया और दातो पर खर्च जो जाती है. आप इस बात से अनुमान लगा सकते है. शरीर मैं जो सफ़ेद रंग का पार्ट होता है. वहा पर ज्यादा डिमांड रहती है. इसके अलावा brain, heart मैं भी कैल्शियम की जरुरत होती है. आपकी जो धमनिया होती है. उनकि strength को बढाता है. अगर देखा जाये तो, ९९% कैल्शियम हड्डिया और दातो पर use होता है. बाकि 1% शरीर मैं use होता है.

आप खुद सोच सकते है. अगर, कैल्शियम की कमी हो गई. तो, बहुत सारी बीमारिओं का सामना करना पड़ेगा. इसिलिए, आहार मैं कुछ ऐसे घटक को शामिल करेंगे. की, उससे हमारा कैल्शियम maintain रहे. इसीलिए क्या करना चहिये ने ये टॉपिक निकाला है.

अगर आप आज कल की लाइफस्टाइल पर नजर डाले तो, ऐसे कौनसे भी पोषक तत्व नहीं मिलते है. इसके कारण छोटे छोटे बच्चो मैं भी calcium deficiency से गुजर रहे है. इनके खाने मैं ज्यादा तर जंक फ़ूड होता है. उन्हें वही अच्छा लगता है. और उसी के कारण उनकी हड्डिया कमजोर होती है. दूसरी side मैं महिलाओं मैं भी कैल्शियम की कमी होती है. ये ज्यादा तर प्रेगनेंसी के बाद होता है. अगर सही मात्रा मैं meal हो. तो koi प्रॉब्लम नहीं है. इस आर्टिकल मैं कैल्शियम की कमी का solution मिल जायेगा. अगर कुछ जानकारी अच्छी लगी तो, आखिर तक पढ़िए. नही तो, कैल्शियम से वंचित रह जाओगे.

अब जान लेते आपके कुछ खास प्रश्न related इस समस्या से.

  1. बेस्ट कैल्शियम टेबलेट्स.
  2. व्हाट इस कैल्शियम.
  3. कैल्शियम टेबलेट्स price.
  4. कैल्शियम की कमी होने पर क्या खाना चाहिए?
  5. कैल्शियम और कैल्सियम ?
  6. कैल्शियम कैसे बढ़ाये?
  7. महिलाए कैसे कैल्शियम बढ़ाये?
  8. गर्भावस्था मैं कैल्शियम.
  9. कैल्शियम के घरेलु स्त्रोत
  10. कैल्शियम की देसी दवा.
  11. कैल्शियम की गोली का नाम.
  12. कैल्शियम की आयुर्वेदिक दवा.
  13. कैल्शियम सिरप के फायदे.

कैल्शियम की कमी क्या है? ( what is the meaning of calcium deficiency )  

कैल्शियम की कमी क्या है? ( what is the meaning of calcium deficiency )  

खून मैं कैल्शियम की कमी मतलब  Hypocalcemia होना. Simple शब्दों मैं कहा जाये तो, शरीर की हड्डिया और दात कमज़ोर होना. मतलब , कैल्शियम की कमी होना. इसे ही calcium deficiency कहते है.

अगर आपके शरीर को कैल्शियम की जरुरत जितनी चाहिए उतनी नही मिल रही है. तो, उसे ओस्टिओपेनिया और ओस्तिओपोरोसिस कहते है. Supplement or vitamins की supply से कैल्शियम की कमी को दूर किया जा सकता है. इसका इलाज संभव है. और आप अगर naturally बढ़ाना चाहते है. क्या खाना है क्या नही. इसके बारे मैं भी चर्चा करने वाले है.

एनसीबीआई ( नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी ) के शोधकर्तोने बताया है. उम्र के हिसाब से कितनि कैल्शियम की जरुरत है.    

  • 1 से 3 साल की उम्र के लिए 700 मिलीग्राम प्रतिदिन
  • 4 से 8 साल की उम्र में 1,000 मिलीग्राम प्रतिदिन
  • 9 से 13 साल की उम्र में 1,300 मिलीग्राम प्रतिदिन
  • 14 से 18 साल में 1,300 मिलीग्राम प्रतिदिन
  • 19 से 50 साल की उम्र में 1,000 मिलीग्राम प्रतिदिन
  • 51 से 70 वर्षीय पुरुषों के लिए प्रतिदिन 1,000 मिलीग्राम प्रतिदिन
  • 51 से 70 वर्षीय महिलाओं के लिए 1,200 मिलीग्राम प्रतिदिन
  • 70 से अधिक उम्र में 1200 मिलीग्राम प्रतिदिन और
  • 19 से 50 साल की उम्र महिलाओं (गर्भवती/स्तनपान कराने वाली) के लिए 1,000 मिलीग्राम मात्रा प्रतिदिन

कैल्शियम की कमी के लक्षणे ( symptoms of calcium deficiency )

कैल्शियम की कमी के लक्षणे ( symptoms of calcium deficiency )
  • खाना निघलने मैं कठिनाई आना.
  • भूक न लगना.
  • थकावट महसुस करना.
  • त्वचा सुखी पड़ना.
  • बांजापन.
  • दातो मैं सडन.
  • अलेर्जी होना.
  • नाख़ून कमजोर होना और निकल जाना.
  • High BP.
  • छाती मैं दर्द होना.
  • सुस्ती आना.
  • नींद नही लगना.

कैल्शियम की कमी होने के कारण ( Causes of calcium deficiency )  

ल्शियम की कमी होने के कारण ( Causes of calcium deficiency )  
  • विटामिन डी की कमी होने से.
  • आहार मैं फौस्फारस और मैग्नीशियम का सेवन ज्यादा होना. और शरीर को जो केमिकल चाहिए ओ न तयार होना.
  • बहुत ज्यादा एक्सरसाइज करने से भी कैल्शियम की कमी हो जाती है. But, इसका मतलब ये नहीं की बॉडी बनाने से calcium deficiency हो जाएगी. उसके साथ अच्छा meal भी शामिल करो. और heavy workout कर सकते है.
  • फ़ास्ट फ़ूड और सॉफ्ट ड्रिंक का ज्यादा सेवन करने से. Because, उन मैं फौस्फारस ज्यादा होता है.
  • जो लोग शाकाहारी है. मतलब दूध प्रोडक्ट भी नही खाते.
  • जो महिलाये. ज्यादा धुम्रपान, कोल्ड्रिंक और शराब का सेवन करती है.
  • अगर किसी को पाचन के सबंध रोग है.
  • अगर किसी की किडनी खराब है.
  • जिन लोगो का पेट का ऑपरेशन हुआ है. और इस मैं पेट के अंदर का कुछ हिस्सा निकाला गया है.
  • जो महिला खेल खेलती है. ओ ज्यादा मात्रा मैं कैल्शियम खर्च करती है.
  • अधिक मात्रा मैं नमक का सेवन करनें से भी कैल्शियम की कमी हो सकती है.

कैल्शियम की कमी को कैसे पूरा किया जा सकता है ? ( calcium deficiency treatment in Hindi ) 

ल्शियम की कमी को कैसे पूरा किया जा सकता है ? ( calcium deficiency treatment in Hindi ) 
  • खान पान बदलकर कैल्शियम की कमी को पूरा किया जा सकता है.
  • हलकासा एक्सरसाइज करना.
  • कैल्शियम टेबलेट और supplement का सेवन करना.
  • कैल्शियम का इंजेक्शन भी ले सकते है.
  • डॉक्टर को पूछकर कैल्शियम की गोलिया और दवा भी ले सकते है.
  • प्राणायाम, योगा करे.

कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए घरेलु उपाय ( Home Remedies for Calcium deficiency )

कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए घरेलु उपाय ( Home Remedies for Calcium deficiency )
  • Dairy product खाना चालू करे.
  • टोफू
  • दूध
  • फलियाँ
  • पनीर
  • दही
  • ब्रोकली
  • अंजीर
  • पालक
  • सोया
  • इसके अलावा हरी पत्ती की सब्जिया.

कैल्शियम की कमी के कारण होने वाली बीमारिया: ( illness due to calcium deficiency )

  • दातों की संरचना मैं बदल होना. मसोड़ो मैं दर्द होना.
  • कमजोर हड्डिया होना.
  • मोतिबिंदु होना.
  • Forehead बहार आना.
  • रिकेट्स ( सुखी त्वचा )
  • टेटनी ( मांसपेशीया अंदर जाना )
  • ओस्तिओपोरोसिस ( हड्डिया कमजोर होना )
  • रुमेटाइड अर्थराइट्स

बेस्ट टेबलेट्स और सप्प्लिमेंट फॉर कैल्शियम deficiency

प्प्लिमेंट फॉर कैल्शियम deficiency

हम कैल्शियम की कमी सप्प्लिमेंट, विटामिन और टेबलेट्स पूरी कर सकता है. But, इसका सेवन डॉक्टर से पूछकर ही करना है. कैल्शियम की कमी के लिए ब्लड टेस्ट किये जाते है. उससे पता चलता है की, कितने क्षमते मैं हमें जरुरत है. उसके हिसाब से टेबलेट्स का सेवन करना है.

आपका जब ब्लड टेस्ट किया जाता है. उसमें समज आता है की, कैल्शियम का स्तर कितना है. अपक एल्बुमिन का लेवल पता चलता है. जिससे आपकी कैल्शियम लेवल पता चलता है. एल्बुमिन एक प्रकार का प्रोटीन ही होता है. सामन्यता कैल्शियम का लेवल ८.८ – १०.४ मिलीग्राम प्रति डेसीलिटर होता है. ८.८ से निचे है तो, आपको कैल्शियम की कमी ( calcium deficiency ) है.

निचे कुछ मेडिसिन content के नाम बताये गए है. जिन्हें आपको डॉक्टर से पूछकर ही लेने है.    

  1. कैल्शियम सिटरेट
  2. कैल्शियम फॉस्फेट
  3. कैल्शियम कार्बोनेट

 इस तरह आप कैल्शियम की को पूरा कर सकते हो. अगर आपके जान पहचान मैं ऐसा koi है जिसे calcium deficiency है. तो ये content उन्हें जरुर शेयर कीजिये. आपकी वजह से किसि को मदत हो जायेगी. क्या करना चाहिए ऐसे महत्वपूर्ण आर्टिकल लाता रहेगा.

Leave a Comment