fbpx

Daily routine अच्छा बनाने के लिए क्या करना चाहिए ?

दैनिक दिनचर्या, हमरे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. सबसे पहले मैं आपको डेली रूटीन का meaning बात देता. दोस्तों आप आपके दिन मैं जो भी सारी activities करते हो  उसे कहते है daily routine. ये मैंने आपको बहोत ही सरल और आसन भाषा मैं बता दिया .चलो अब जानते है, क्यों जरुरी है डेली रूटीन. 

देखिये मैं आपको समजता हूँ, अगर अआप कोई activity करते हो तो कही तो आप time खर्च  कर रहे हो. मतलब आप अपने कोई goal की तरफ आगे बढ़ रहे हो. जैसे जैसे आप अपने goal  के activities करते जाओगे वैसे वैसे आप अपने goal के करीब जाओगे . inshort मैं ये कहना चाहता हूँ की , आप अपना टाइम success के तरफ एक कदम आगे बढ़ा रहे हो. देखिये कैसे लिंक है सब मैं आसान link  मैं बता देता , routine – activity – time utilization- success .

हमारा जीवन इतने सस्ते मैं नही खर्च नहीं करना है, आप अगर अपने जीवन मैं कुछ लक्ष्य पाना चाहते है तो,जो लोग कर रहे है ओ मत करो उनसे कुछ अलग करो. मुझे न guys ऐसे बोलते है इतना positive and  motivation  के साथ कहता हूँ ना की आग निकले बस. अरे आप सोचे यार, हमें एक ही जिंदगी मिलती है और कुछ लोग सिर्फ सोने मैं अधि जिंदगी निकल देते है एंड बाकि enjoy करके निकल देते है टाइम . but दोस्तों हमें ऐसे नहीं जीना है. कुछ करके ही जाना है. 

चलो शुरुवात करता हूँ अब डेली रूटीन की,

१) सुबह आपको ४- ५ बजे की बीच उठना ही उठना है, because ये टाइम बहोत सही है सुबह उठने के लिए एंड अगर healthy life चाहिए है तो ये सुबह उठने का कष्ठ आपको उठाना पड़ेगा. आप बोलेगे नहीं मैं ६ बजे उठता and बाकि के activities करता हूँ , अगर मैंने आपको कहा की सुबह ब्रश करना छोड़ दो and दोपहर को लंच के बाद ऑफिस मैं रोज ब्रश करो. २,३ ऐसा करो एंड मुझे कमेंट करो कैसे लगता है . कुछ अजीब लगा तो, आपको सुबह ४-५ के बीच मैं उठना पड़ेगा. देखिये guys, हर किसी का टाइम important है. सुबह, रात, दोपहर , श्याम so आप nature के agains जेक कुछ करना नहीं चाहिए. हमें सुबह ब्रह्म मुहर्त मैं उठना चाहिए so मैं जो बोल रहा उसे discipline फॉलो करो.

२) उठाने के बाद मस्त एक बड़ी सास लेनी है एंड जो सुबह का एकदम फ्रेश ऑक्सीजन अंदर लेना है. कम से कम २ ग्लास पानी पीना है, एक ग्लास मैं त्रिफल चूर्ण ले सकते है एंड दुसरे ग्लास मैं लिम्बू, शहद डालके पी सकते है.

३) इतना पानी पिने के बाद आपको प्रेशर आयेगा then आप टॉयलेट जेक आएये, आपको अपना पेट एकदम शांत एंड हलका हलका लगेगा. ये जो टाइम है आपको अपने mental health के लिए देना है. मतलब, आपको अभी योगा , प्राणायाम , मैडिटेशन करना है. प्राणायाम से आपकी अंदर की body ठीक हो जाएगी. एंड मैडिटेशन से आपको focus and concentration बढ़ जायेगा.

४) आपको अभी अपने physical health के लिए १ घंटा excercise करनी है, जिससे आपका fat कम हो जाएंगे. Muscle gain हो जायेगा. और एक जबरदस्त energy आ जाएगी. उससे आप दिन भर energetic रहोगे. काम करने के लिए आसन हो जायेगा. 

५) आपको अभी daily routine मैं पढने की ददात लगाने की है, डेली आपको १ हौर पढ़ना है. आप बोलेगे क्या सर स्कूल, कॉलेज मैं है क्या हम रोज पढने के लिए , but दोस्तों अगर आप रोज १ घंटा पढ़ते हो तो साल के ३६५ घंटे पढोगे ये calculation देख लीजिये. सोचो अब कितने बुक पढ़ लोगे. आप कितना knowledge gain कर रहे है एंड Dr. APJ कलाम ने कहा . “ knowledge gain करते रहो हमेशा “.so आप सोचके देखिये . आपको अपने goal state ment की तरफ जाना है या नहीं. 

६) इतने सारे activities करने के बाद आपको भूख तो लगने वाली है. Mornng को आपका metabolism थोडा कम रहता है. उसको boost  करने के लिए आपको healthy breakfast करना पड़ेगा. So एक अच्छा सा healthy माल ले लेना नाश्ते मैं, आपकी energy boost होगी.

७)इसके बाद आप आपने job या ऑफिस को जा सकते है. और अपना काम पुरे जोश के साथ कर सकते है. But आपको lunch का एक वक्त fix कर लो. १२ – १ के बिच मैं और चाहे कुछ भी हो जाये lunch का टाइमिंग कभी change or postpone करने का नहीं. हमेशा proper timing मैं ही खाना खाने का. 

8) हमारे body को हर ३ घंटे मैं meal लगती है, इसका मतलब ये नहीं है की आपको ४,५ बार खाना खाना है. बिच मैं आपको अगर भूक लगती है तो फ्रूट, जूस ले सकते है. Then आपका dinner का श्याम के ७ बजे से पहले होना चाहिए. नहीं तो आपका वजन बढ़ता ही जायेगा. 

९)  सोने से आधा घंटे पहले दूध पीओ अगर possible हो तो उसमें शतावरी/अश्वगंधा थोडीशी डालके पीओ. दूध पचने मैं टाइम लेता है so आपको रातभर एक अची नींद भी देता है.

१०) अब आता है सबसे important point सुबह जो अपने आपके daily routine मैं जो activities लिखी थी ओ ख़त्म हुए या नहीं देख लीजिये, अगर नहीं हुए है तोह उसको reschedule कीजिये एंड पुअर कीजिये but बीच मैं किनसे  task छोड़ने का नहीं. Plan अगर बिगड़ गए तोह क्या हुआ दुबारा plan बनाओ एंड finish करो. Because “Bad plan is better than no plan.”

ये जो मैंने आपको daily routine जो बताया है, ये एक जनरल रूटीन है. ये सारी चीजे आपके lifestyle मैं चाहिए. कुछ बदलना चाहते हो तो खुदको बदलो ना की दुनिया को बदलने का try करो.

और एक जरुरी बात जो सच मैं कुछ करना चाहता है उसी के लिए blog सीरीज “ Kya Karna Chahiye” चालू की है.   

            .        

Leave a Comment