fbpx

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए क्या करना चाहिए ? ( Home Remedies For Cholesterol )

आज हम Cholesterol के बारे मैं बात करने वाले है. आजकल ये बीमारी मनुष्य मैं बहुत तेजी से बढ़ रही है. जिससे भारत के लगबग ५०% लोग परेशान है. अभी अभी हिंदू समाचार मैं एक headline आई थी. की. २७% नौजवानों को भी कोलेस्ट्रॉल की समस्या सता रही है. और आजकल लोग शरीर को इतना महत्व नहीं दे रहे है. हर कोई अपने अपने काम के lifestyle मैं व्यस्त है. जैसे गाड़ी को use करते है वैसे शरीर को use कर रहे है. मतलब, गाड़ी जब तक बंद नहीं पड़ती. तब तक चलाने का. उसका regular maintainance नहीं करने का. वैसी ही शरीर जब तक चलता है. तब तक चलाने का. जब तक की कोई गंभीर बीमारी ना हो. और उसके बाद हजारो लाखो रुपये खर्च करने के बाद भी ओ बीमारी ठीक नहीं होती. लेकिन कभी अपनी daily routine को झांक कर नहीं देंगे. हम कैसे life जी रहे है? या स्वस्थ के बारे मैं हमारा शरीर ठीक है की नहीं? सिर्फ पैसा और काम के पीछे भाग रहे है लोग. मैंने हर एक content मैं एक शब्द का इस्तिमाल बहुत बार किया है. और ओ है ‘Balance’. जीवन को नियंत्रण मैं लाइए. और एक अच्छी lifestyle का routine फॉलो कीजिये.

आज कल हम क्या ऐसा खा रहे है. जिससे हमारे शरीर को इतनी सारी तकलीफे उठानी पढ़ रही है. कुछ खाने से पहले हम जरा भी ये सोचते नहीं. की इस meal से हमारे शरीर को कुछ नुकसान होने वाला है या नही. बस, taste अच्छी लग रही है. so खाते चले जाते है. आज का टॉपिक कोलेस्ट्रॉल है. हम इसके बारे मैं पूरी जानकारी आज आपको देंगे.

कोलेस्ट्रॉल का निर्माण लीवर करता है. लगबग ७०% कोलेस्ट्रॉल लिवर ही करता है. बाकी ३०% हम किस प्रकार का भोजन करते है. उसपर depend है. इसका उपयोग हमारे जो भी खून की कोशिकांये रहती है. उन पर एक मजबूत कवच बनाने का कम करती है. और हार्मोन्स को निर्माण करने का काम करती है.

दूसरी बात, यह प्रोटीन के साथ मिलकर लिपोप्रोटिन बनाती है. जो fat को खून मैं मिक्स होने से रोकती है. bad cholesterol शरीर मैं अगर बढ़ जाता है. जो blood veseles होती है. उन मैं जमा होकर ब्लड प्रेशर कम ज्यादा कर देती है. जिससे मरीज को heart attack, brain स्ट्रोक और ओबेसिटी जैसी समस्या सताती है.

किसी भी स्वस्थ शरीर के व्यक्ति का कोलेस्ट्रॉल २०० मि.ग्रा/डीएल से कम, एचडीएल ६० मि.ग्रा/डीएल से अधिक और एलडीएल १०० मि.ग्रा/ डीएल से कम होना चाहिए. अब हम कुछ प्रश्न जान लेते है आपके.

  1. शरीर मैं कोलेस्ट्रॉल कम करने के दवा.
  2. पतंजलि मैं कोलेस्ट्रॉल की दवा.
  3. कोलेस्ट्रॉल कम होने के लक्षण.
  4. कोलेस्ट्रॉल की आयुर्वैदिक दवा पतंजलि.
  5. कोलेस्ट्रॉल कम करने के एक्सरसाइज.
  6. कोलेस्ट्रॉल को कैसे खत्म करे?
  7. क्या कोलेस्ट्रॉल मैं दही खा सकते है?
  8. क्या दूध पिने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है?
  9. कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से क्या परेशानी होती है?
  10. बढे हुए कोलेस्ट्रॉल को कैसे कम करे?
  11. कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर क्या लक्षण दिखाई देते है?

कोलेस्ट्रॉल क्या होता है ? ( What is Cholesterol in Hindi )   

कोलेस्ट्रॉल क्या होता है ? ( What is Cholesterol in Hindi )   

शरीर मैं अगर कफ की मात्रा बढ़ जाती है. तब कोलेस्ट्रॉल तयार होता है. ये एक मोम जैसा चिकनाहट पदार्थ होता है. जिससे healthy cell बनाने के लिए आवश्यकता होती है. ये शरीर के लिए जितना खून महत्वपूर्ण है. उतना ही कोलेस्ट्रॉल. हमारे जो रक्तधमनिया होती है. उनको प्रोटेक्ट करने का काम भी करती है. but, कोलेस्ट्रॉल की मात्र खून मैं जब ज्यादा होती है. तब उसे हाई कोलेस्ट्रॉल कहते है. और low होती है. तब low कोलेस्ट्रॉल कहते है. ज्यादा तर लोगो को unhealthy food खाने से हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या होती है.

Total cholesterol – 200 – Desirable

200 – 239- Border Line.

240 or above – High Risk.

HDL – 60 or above – Low risk of heart disease.

40-60-near –optimal.

0 or below- High risk of heart disease.

40-60-near-optimal.

40 or below-high risk of heart disease.

कोलेस्ट्रॉल के कितने प्रकार होते है? ( How Many types of Cholesterol )

कोलेस्ट्रॉल के कितने प्रकार होते है? ( How Many types of Cholesterol )

हमारे शरीर मैं तीन प्रकार के कोलेस्ट्रॉल होते है.

  1. LDL ( Low Density Lipoprotein )
  2. HDL ( High Density Lipoprotein )
  3. VLDL ( Very – Low Density Lipoprotein )

LDL ( Low Density Lipoprotein ) :

इस प्रकार का कोलेस्ट्रॉल हमारे आर्टरीज मैं बढ़ जाता है. जिसे bad cholesterol से भी जाना जाता है. इस तरह का कोलेस्ट्रॉल ज्यादा खतरनाक माना जाता है. हमारे blood वेसल्स मैं इसका प्रमाण बढ़ने से blood के बहाव को ब्लाक कर देता है. जिससे हमारे blood pressure पे फरक पड़ता है. और ह्रदय को सही मात्रा मैं खून न मिलने से heart attack जैसी समस्या आ सकती है. इसीलिए इसे बहुत ही नुकसान दायक कोलेस्ट्रॉल माना जाता है. अब बात करते है. आखिर इसके बढ़ने के मुख्य कारण कौन से है. दो चीजे बहुत affect करती है. एक मांस और दूसरी रेफिएनेरी आयल. आप कौन से भी प्राणी के मांस खाइए आपका कोलेस्ट्रॉल बढेगा. और इसके अलावा तली हुई चीजे. मैदा, बटर etc. और एक बात बता देता हूँ. balance करना सीखिए अपने diet को.

HDL ( High Density Lipoprotein ):

जैसे सही गलत होता है. वैसे शरीर मैं गुड कोलेस्ट्रॉल भी होता है. जो bad कोलेस्ट्रॉल को निकलने का काम करती है. जो bad कोलेस्ट्रॉल blood वेसेल्स मैं होती है. उन्हें लीवर तक पहुचाने का काम गुड कोलेस्ट्रॉल करते है. और लीवर उसे बाहर निकाल देता है. अगर कोई बुरा इंसान रास्ता गंदा कर रहा है. कचरा फेक कर. then, कोई अच्छा इंसान उसे साफ़ भी कर रहा है. इस तरह से इस कोलेस्ट्रॉल को समजा जा सकता है.

VLDL (Very-Low Density Lipoprotein):

इस तरह का कोलेस्ट्रॉल अगर बढ तो दिल की बीमारी की शुरुवात हो सकती है. ये कोलेस्ट्रॉल LDL से भी खतरनाक होती है. खून की कोशिकंये के अंदर इनका प्रमाण हदसे ज्यादा बढ़ता है. तब, लीवर तक सही मात्रा मैं खून नही पहुच जाता. जब भी आप एक्सरसाइज या running करोगे. तब आपके सीने मैं दर्द हो जायेगा. अगर कोलेस्ट्रॉल शरीर मैं बनता है. तब खून सही तरह से किडनी तक नही पहुचता है. इसी कारण किडनी मैं सुजन आ जाती है. और पैरो मैं तरल पदार्थ स्टोर हो के सुजन पैदा होती है. हाई ब्लड प्रेशर, पेशाब न आना इस तरह की परेशानी शुरू होती है. नाभी के उपर वाले हिस्से मैं भी दर्द होना चालू होता है. खासकर आप खाना खाने का बाद इस तरह की समस्या आती है. पेट मैं घंटो तक दर्द रहता है. और ऐसी परिस्तिथि मैं आपको पेट की सर्जरी भी करना पड़ता है.  और इसके लिए आपके लाखो रुपये जा सकते है. कोलेस्ट्रॉल की वजह से आपके शरीर मैं पित्त का प्रमाण भी बढ़ जाता है. जिससे आपके पिताशय मैं सुजन आ सकती है.

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के कारण  ( causes of cholesterol )

  • असंतुलित आहार होना. भोजन मैं पुरे पोषक तत्त्व न होना. fatty पदार्थ meal मैं होना. और तली हुई पदार्थ का सेवन रोजाना करना. डायरेक्ट शुगर वाले प्रोडक्ट का रोजाना सेवन करना.
  • genetic के कारण भी कोलेस्ट्रॉल की बीमारी हो सकती है. करन परिवार मैं किसी को होगी तो आपको भी हो सकती है.
  • शराब का सेवन करने से भी आपका कोलेस्ट्रॉल बढेगा. इससे आपके लीवर और heart को problem हो सकती है.
  • depression और stress अगर ज्यादा लोगो तो आपक fat शरीर मैं वैसे ही जमा होता रहेगा. क्यूँ की डिप्रेशन की स्टेज मैं मरीज ज्यादा junk food खा लेता है. और इसी कारण कोलेस्ट्रॉल भी बढ़ता है. 

कोलेस्ट्रॉल के लक्षणे ( Symptoms of Cholesterol )

  1. सिरदर्द होना.
  2. सांसे फूलना.
  3. मोटापा होना.
  4. सीने मैं दर्द होना.
  5. पेट मैं घंटो तक दर्द रहना.
  6. पैरो मैं सुजन आना.

कोलेस्ट्रॉल से बचने के लिए जीवनशैली ( lifestyle to take prevention from high cholesterol ) 

  1. daily shedule होना चाहिए. हम क्य खा पी रह है. इसकी हमें पूरी जानकारी होनी चाहिए.
  2. रोजाना running, एक्सरसाइज करना चाहिए.
  3. प्राणायाम योगा को routine मैं लाना चाहिए.
  4. आहार मैं ग्रीन सब्जिया, फलो का इस्तिमाल रोजाना होना चाहिए.
  5. nutritional आहार का सेवन ज्यादा तर होना चाहिए.
  6. बॉडी को hydreted रखना चाहिए. रोजाना 4 – 5 लीटर पानी पीना चाहिए.
  7. आयुर्वेदिक जो भी फल है. हफ्ते मैं ३,४ बार जूस पीना चाहिए.
  8. सुबह जल्दी उठकर अच्छा ऑक्सीजन लेना चाहिए.
  9. भगवान की भक्ति करनी चाहिये. जिससे आपका मन प्रसन्न रहेगा.

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए घरेलु उपाय ( Home Remedies for Cholesterol in Hindi )  

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए घरेलु उपाय ( Home Remedies for Cholesterol in Hindi )  
  • लह्सुन खाने से कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल किया जा सकता है. इस मैं कुछ एन्जयांस होते है. जो की आपके कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम से कम १० % घटा सकती है.
  • रोजाना अखरोट खाने से भी कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल मैं ला सकते है. इस मैं मग्नेशियम, कैल्शियम, ओमेगा-३, फैबर, कॉपर ऐसे पोषक तत्व होते है. जो की आपके bad कोलेस्ट्रॉल को घटा सकती है.
  • आप कभी कभी meal मैं ओअट्स भी खा सकते है. जिस मैं बीटा ग्लूकोज नाम का घटक होता है. जो की आपके कोलेस्ट्रॉल के अवशेष को कम कर देता है.
  • मेथी के दाने को रात भर भीगा कर रखे. और सुबह इसका पानी पि लीजिये और उसके दाने चबा चबा कर खाइये. इसे आप तीन महीने लगातार प्रयोग करे. आपका लाभ जरुर होगा. इस मैं मैग्नीशियम, लोह, एंटीओक्सिगेंट, एंटीsugar और एंटीवायरल इस तरह के गुणधर्म होते है. और आपका कोलेस्ट्रॉल कर ही देगा.
  • सुबह खाली पेट लौकी का जूस पीया करे. और इस में तुलसी, पुदीना भी डालिए के अच्छा जूस तयार होगा. इससे आपको सुबह फ्रेश होने के बाद लेना है. इससे आपके कभी लाभ होगा. बहुत saari बीमारी से आपको छुटकार मिल जायेगा.
  • धनिया के बीज का powder बनाकर इसको पानी मैं मिलालो. और छान कर पिलिजिये. और इसको चाय पत्ती के जगह भी इस्तिमाल कर सकते है. जिससे आपका bad कोलेस्ट्रॉल कम हो जायेगा.
  • खाना बनाने के लिए सरसों, ओलिव oil का इस्तिमाल करे. जिससे अपक कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल मैं रहेगा.
  • आपको संतरा, मौसंबि, निम्बू, अनार, आवाला इन फलों का जूस पीना चाहिए.

धीरे धिरे क्या करना चाहिए की टीम आपको सारे health इशू पर आर्टिकल ला रही है. जिसे पढ़कर आप सभी लाभ उठाइए. कोलेस्ट्रॉल के जो भी लक्षण आपको हमने बताइए है. अगर ओ लक्षण बार बार और बहुत ज्यादा दिखने लगे तो, आपको तुरंत डॉक्टर से चेक अप करना चाहिए. इस तरह के problem solving आर्टिकल आपके लिए जरुर आते रहेंगे.         

Leave a Comment