fbpx

हार्ट अटैक से बचने के लिए क्या करना चाहिए? ( Home Remedies for Heart attack )

आज हम लोग Heart attack से जुडी सारी बाते करने वाले है. हमारे ब्लॉग सीरीज मैं हमेशा मैंने Daily routine, scheduling, planning, fitness और healthy diet इसी बात पे focus किया है. और दुसरी तरफ मेंटल health के बारे मैं भी self improvement के category मैं बता रहा हूँ. लोगो को अभी तक असली ख़ुशी पता ही नही है. हर वक़्त पैसा के पीछे भागदौड़ चालूच है. हाँ मुझे पता है. जीने के लिए पैसा जरुरी है. but, ख़ुशी के लिए पैसा जरुरी नहीं है. हमारे भारत के नौजवान आज हार्ट अटैक के शिकार हो रहे है. और मैं बिलकुल भी नही चाहता. की कुछ करने के उम्र मैं हमारी जान गवानी पड़े. हमारे सनातन ग्रंथ मैं, आयुर्वेद मैं बताया गया है. जीवन कैसे जिया जाता है? और आपके भाषा मैं बोलू तो, life का मजा कैसे लिया जाता है.

हाली मैं आपके मेरे चहिते सिद्धार्थ शुक्ला का हार्ट अटैक से निधन हुआ है. मुझे खुदको यकीन नही हुआ था. ये खबर सुनकर हैरान था. की, इतना healthy and फिट आदमी का निधन कैसा हो सकता है. ओ आदमी अपने carrier के pick point पे था. और उसके नसीब मैं इस तरह का क्षण आ गया. और एक बात हम लोग जब भी बॉलीवुड की हस्ती को देखते है. तब उनकी चमक धमक पर हमारा ध्यान जाता है. but, अंदर से ओ बहुत खोकले होते है. उनकी life मैं बहुत सारी तकलीफे होती है. इस कारण कुछ लोग depression मैं जाते है. और इसी स्ट्रेस और चिंता के कारण सिद्धार्थ शुक्ला को heart attack आया होगा.

हमारे नौजवानों को बचाने का जिम्मा क्या करना चाहिए ने ले लिया है. और इस ट्रेंडिंग टॉपिक पर आर्टिकल लाया है. हार्ट ब्लॉकेज के बाद ही हार्ट अटैक आता है. इस तरह की परेशानी भारत के ३० वर्ष के उम्र वाले लोगो मैं बढ़ रही है. और इस को गंभीर ता से लेना चाहिए. और सही तरह से इलाज भी करना चाहिए. heart अटैक से बचने के लिए हम हमारी जीवन शैली मैं सुधार ला सकते है.

कुछ आपके सर्च किये जाने वाले प्रश्न देख लेते है.

  1. हार्ट अटैक से बचने के लिए योग.
  2. heart अटैक से बहकने के लिए क्या खांए.
  3. हार्ट अटैक से बचने के लिए आयुर्वेदिक उपाय.
  4. हार्ट अटैक के फायदे.
  5. हार्ट अटैक के फायदे.
  6. हार्ट अटैक आने से पहले संकेत.
  7. हार्ट अटैक प्राथमिक उपचार.
  8. अटैक से बचने के लिए क्या करना चाहिए?
  9. हार्ट के मरीज को कौन सा फल खाना चाहिए?
  10. हार्ट अटैक कितनी बार आता है?
  11. हार्ट अटैक के लक्षण और उपाय.
  12. महिलाओं मैं हार्टअटैक के लक्षण.
  13. हार्ट अटैक आने से 1 महीने पहले ही शरीर देने लगता है ये संकेत.

हार्ट अटैक क्या है ? ( What is Heart Attack? )

र्ट अटैक क्या है ? ( What is Heart Attack? )

शरीर मैं रक्तस्राव बहने के लिए रक्त धमनिया होती है. unhealthy lifestyle की वजह से रक्त कोशिकाओ मैं फैट जमा होता है. उसे bad cholesterol कहते है. इसके कारण ह्रदय को अच्छी मात्रा मैं ऑक्सीजन और पोषक तत्व नही मिल पाता. उस fat की वजह से ह्रदय को प्रमाणित मात्रा मैं खून नही पहुचता है. ये बीमारी बूढ़े से लेके नौजवान तक बढ़ रही है. आयुर्वेद के अनुसार हार्ट अटैक शरीर मैं कफ का असंतुलन होने से होता है. US के research के अनुसार दुनिया मैं पिछले दो तीन सालो के अंदर हार्ट अटैक से काफी लोग मर गए है. और इसमें युवाओं का काफी हद तक नाम है. भारत के लग बग ६ करोड़ लोग इस बीमारी से परेशान है. और इसकी वजह और कुछ नही. सिर्फ हमारी आज कल की lifestyle है. गांधीजी गाँव मैं चलो बोल रहे थे. और आज क्या करना चाहिए बोल रहा है, healthy lifestyle के पास चलो. ये नारा लगा रहे है.

Note –  अच्छी तरह हार्ट अटैक के concept को पढने के लिए हमारा blood pressure का आर्टिकल जरुर पढ़ लीजिये.

हार्ट अटैक के लक्षण ( Symptoms of Heart Attack )

  1. छाती मैं तेज दर्द होना.
  2. सांस फूलना.
  3. चक्कर आना.
  4. बेहोश आना.
  5. सिर दर्द करना.
  6. अधिक थकान होना.
  7. ठण्ड लगना.
  8. पसीना आना.
  9. खांसी के दौरे, जोर जोर से सांस लेना.
  10. मन अशांत लगना.
  11. जी मचलना उलटी जैसा लगना.
  12. बैचनी महसुस होना.
  13. शरीर के दुसरे हिस्सों मैं हाथो मैं दर्द होना.

हार्ट अटैक के कारण ( Causes of Heart Attack ) 

  1. ब्लैक कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना.
  2. unhealthy lifestyle.
  3. junk food का बार बार सेवन करना.
  4. एक्सरसाइज और योग-प्राणायाम कभी नहीं करना.
  5. मोटापा होना.
  6. धुम्रपान और शराब का बार बार सेवन करना.
  7. तनाव और चिंता जनक जीवन जीना.
  8. प्रदूषित area मैं रहना.
  9. अनियमित वक़्त आहार लेना.
  10. मोबाइल और कंप्यूटर का इस्तिमाल ज्यादा देर तक करना. 
  11. स्टेबल लॉक ( ह्रदय तक पोषक तत्व और ऑक्सीजन न पहुचना)
  12. unstable lock ( मांसपेशिया का अचानक से गंभीर तरह से damage  होना.)

हार्ट अटैक से बचने के लिए जीवनशैली ( Prevention for heart Attack )

 हार्ट अटैक से बचने के लिए जीवनशैली ( Prevention for heart Attack )
  1. सुबह जल्दी उठकर ताज़ी हवा मैं प्राणायाम और योग करना.
  2. running और walking करना.
  3. कम से कम एक घंटा तो एक्सरसाइज करना.
  4. एक healthy diet का सेवन करना.
  5. meal मैं fruit, fiber, protein और बाकि पोषक meal का रोजाना इस्तिमाल करना.
  6. एक अच्छी ६ से ७ घंटे की नींद लेना.
  7. मन की शांति के लिए मैडिटेशन करना.
  8. बॉडी को hydrated रखना.
  9. चिंता और depression से दूर रहना.
  10. हमेशा बिंदास रहना. और एक अच्छा जीवन जीना.

हार्ट अटैक से बचने के लिए घरेलु उपाय ( Home Remedies on Heart अटैक )

  1. सब्जिओं मैं अरबी और चौलाई जरुर खाना चाहिये. इस मैं कुछ पोषक  तत्व होते है. जो आपको heart अटैक से बचाते है.
  2. फलो मैं अमरुद, अननस, मौसमी, लीची और सेब का इस्तिमाल कर सकते है.
  3. पानी मैं नीबू का रस मिलाकर रोजाना पिए.
  4. दिल को मजबूत करने के लिए देसी घी मैं गुड़ मिलाकर खांए.
  5. खाने मैं दही खा सकते है.
  6. फलो मैं अनार का इस्तिमान कर सकते है. अनार मैं फाइटोकेमिकल होता है. और एंटीओक्सिडेंट का काम करते है.
  7. दालचीनी मैं एंटीओक्सिडेंट तत्व होते है. जो की हार्ट अटैक के मरीज के लिए कारगर साबित हो सकती है.
  8. लाल मिर्च मैं कैप्सेसिन नाम का तत्व होता है. जो की, बाद कोलेस्ट्रॉल को कम कर देता है. और धमनियों मैं जमे हुए ब्लाक को काम निकाल देता है. इसे आप गरम पानी मैं मिलाकर पि सकते है.
  9. लह्सुन रक्त कोशिकांओ को चौड़ा कर देता है. सब्जी मैं लह्सुन का शामिल होना चाहिए. और इसे आप दूध मैं उबालकर भी पि सकते है.
  10. हल्दी धमनिया को और खोलने का काम करती है. इस मैं करक्यूमिन नाम का तत्व रहता है. गरम दूध मैं और पानी मैं उबालकर भी पि सकते है.
  11. निम्बू मैं बहुत सारे घटक होते है. विटामिन्स, एंटीओक्सिडेंट होते है. जो की रक्त को ब्लाक नही होने देते है. जिससे आपका रक्त प्रवाह अच्छा रहेगा.
  12. तुलसी और अद्रक का जूस निकालकर पि सकते है. इन में एंटीओक्सिडेंट तत्व होते है. ये भी एक गुणकारी औषध है.
  13. इलायची मैं फाइब्रोनोलिटिक तत्व होते है. जो आपके कोलेस्ट्रॉल level को maintain करते है.
  14. लौकी का जूस भी आप पि सकते है.

हार्ट अटैक से बचने के लिए खान पान ( Diet for Heart attack disease )

  1. नमक का सेवन कम होना चाहिए.
  2. भोजन मैं oil, घी, डालडा ला इस्तिमाल कम होना चाहिए.
  3. शुगर का इस्तिमाल भी कम होना चाहिए.
  4. फलो का सेवन होना चाहिए.
  5. कच्चे सब्जिया का सेवन होना चाहिए.
  6. शरीर मैं अच्छी मात्रा मैं पानी होना चाहिए. दिन मैं कम से कम 4 – 5 लीटर पानी पीना चाहिए.
  7. तुलसी, अवला, सफ़ेद पेठे का जूस हफ्ते मैं एक बार तोह लेना चाहिए.
  8. रात को सोने से पहले हल्दी को दूध मैं मिलाकर पि सकते है.

Note –  अच्छी तरह हार्ट अटैक के concept को पढने के लिए हमारा blood pressure का आर्टिकल जरुर पढ़ लीजिये.

अगर आपको तुरंत heart attack आ जाये तो, इस मैं घबराने के जरूरत नहीं है. आप एस्पिरिन की टेबलेट ख सकते है. और मरने से बच सकते है. या फिर आराम स्तिथि मैं बैठकर डॉक्टर को कॉल कर सकते है. और एम्बुलेंस बुला सकते है. दोस्तों, हमें कुछ कर के ही मरना है. ये याद रखो. इसीलिए काम के साथ शरीर का भी ध्यान देना  है.

Leave a Comment