fbpx class="post-template-default single single-post postid-255 single-format-standard wp-embed-responsive everest-forms-no-js post-image-below-header post-image-aligned-center sticky-menu-fade mobile-header right-sidebar nav-below-header separate-containers nav-search-enabled header-aligned-left dropdown-hover featured-image-active elementor-default elementor-kit-439" itemtype="https://schema.org/Blog" itemscope>

Mucormycosis (म्युकोर मायकोसिस ) in hindi ?

जैसा की हमारा ब्लॉग self improvement और एक healthy lifestyle के लिए जाना जाता है. हमारे youth को इस की लागन ना लगे इस के related हमें कुछ message देना है. कोरोना वायरस का मरीज ठीक होते ही, उनको कुछ नाक, आख़ की समस्या की problem आ रही है. कुछ काली बुरशी जैसा संक्रमण होने लगत है. आखिर Mucormycosis (म्युकोर मायकोसिस ) क्या है. because, लोग बहुत परेशान हुए है. पहले ही कोरोना वायरस बहुत कहर बरसा रहा है. और उस में ये एक नया वायरस लोगो की आखे ले रहा. एक काली बुरशी ( black fungus ) से संसर्ग जनित वायरस है.  सच मैं ये एक भयानक सिचुएशन आई है भारत मैं. but, आप लोगो को क्या करना चहिये. इस कठिन परिस्तिथी मैं.बुरशी को वजह से होने वाले इस रोग को Mucormycosis (म्युकोर मायकोसिस ) कहते है.  इसको काली बुरशी की नाम से जाना जाता है. कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा धोका high BP, diabeties, heart की बीमारी इन लोगो को जल्दी संक्रमण करती है. अभी तक के आकडे यही कह रहे है. ७०% लोग जिन्हें covid 19 हुआ है. उन लोगो को यही सारे लोग है. उसके कारण ओ लोग जल्दी recover भी नहीं हो रहे है.अब market मै नया वायरस मतलब नया रोग आया है. उसका नाम है Mucormycosis (म्युकोर मायकोसिस) इस रोग की सारी जानकारी हमने डॉक्टर से ले ली है. इससे बचने के लिय हमें क्या करना चाहिए. और किसको इसका संक्रमण जल्दी हो सकता है. इसके बारे मैं हम लोग आपकी सहयता करेंगे.

Mucormycosis (म्युकोर मायकोसिस) क्या है ?

इंडिया मैं फ़रवरी मैं दूसरी लाट आई है. कोरोने से ठीक होने वाले मरीज को नाक और घसे की समस्या का problem हो रहा. मुंबई के जे जे हॉस्पिटल के throat specialist डॉ श्रीनिवास चव्हाण बताते है. म्युकर मायकोसिस हा काली बुरशी के वजह से फैलने वाला रोग है. इस बुरशी का संक्रमण हर किसी को होने की संभवाना रहती है. डॉ आगे बता रहे है, हमारे नाक के पास जो भोई जगा होती है. वहा पे ये काली बुरशी  (black fungus) जैम होती है. अगर किसी को ऐसा हुआ है. तो उसका संक्रमण उसके साथ रहने वाले को भी हो सकता है.

Mucormycosis (म्युकोर मायकोसिस ) के ४ प्रमुख लक्षण

इसके मरीज भी बढ़ते ही जा रहे है. देश मैं इस मरीजो पर इलाज चल रहा है. अपोलो हॉस्पिटल के नाक घसा तज्ञ इसके चार प्रमुख लक्षण बता दिए है. गुजरात मैं इसके मरीज बढ़ते जा रहे है.

  1. नाक मैं से खून आना.
  2. बहुत जोरो से सर दुखना.
  3. अगर किस्सी object देखे जाने पर, ओ object २ दिखाए देने.
  4. इन सबके बाद weakness आ जाना.

Mucormycosis (म्युकोर मायकोसिस ) के ४ प्रमुख कारण

डॉ बता रहे है की, जिनकी इमुनिटी पावर अच्छी है. ओ लोग इसके शिकार नहीं होते है. but, जिनकी इमुनिटी पॉवर कम है. ओ लोग इसके शिकार बहुत जल्द होते है.

व्हाय्कोर्ट हॉस्पिटल की फिजिशियन डॉ. हनी सावला इसके ४ प्रमुख कारण बता रही है.

  1.  अनियंत्रित प्रमाण मैं शरीर मन मधुमेह होना.
  2. स्टीरॉईड का ज्यादा use करना. 
  3. ब्रॉड स्पेक्ट्रम एन्टीबायोटिक्स
  4. शरीर मैं न्यूट्रोफिल्स कम होना.

कोरोनो और Mucormycosis (म्युकर मायकोसिस) का रिलेशन

डॉ बता रहे है, कोरोना की दूसरी लाट ले बाद इसके मरीज बहुत बढ़ गए है. डॉ. भालेकर इसके कारण बता रहे है.

  1. कोरोन का निदान करते टाइम मरीजो की इमुनिटी कम होना.
  2. कोरोना वायरस मरीजो को स्टेरॉयड देना.
  3. शरीर मैं जो वायरस फैला हुआ था. उसको कम करने को दिए जाने वाले मेडिसिन.

डॉ. बता रहे है, २० साल मैं सिर्फ ७ लोगो को म्युकर मायकोसिस हुआ था, but अभी उन्होंने २५ मरीजो का उपचार किया. ये बहुत ही भयानक दृश्य है. खास कर मधुमेह लोगो की इमुनिटी पॉवर बहुत कम होती है. और diabetis के मरीजो को स्टेरॉयड दिया जाता है. इन कारणों की वजह से उन्हें बहुत ही जल्द संक्रमण होता है. इसके लिए उन्हें precaution लें बहुत ही जरूरी है.

आँखो मैं ये म्युकर मायकोसिस जाने पर क्या होता है ?

डॉ. बोल रहे पिछले week मैं ४ मरीजो की आँखे निकालनी पड़ी है. आँखों के ऑर्बिट मैं अगर बुरशी चली जाती है. तो इलाज करना challanging होता है. और इस बुरशी को दिमाग मैं जाने से रोखंन भी होता है. critical case मैं आखे निकालनी पड़ती है.

डॉ हनि सावला बता रही है. म्युकर मायकोसिस के कारण एक मरीज की जान भी गए है. अगर इसकी बुरशी heart और lungs मैं चली जाये तो, मरीज को बचाना संभव नहीं है. so, ये जानलेवा भी हो सकती है.

Mucormycosis (म्युकर मायकोसिस) से बचने के लिए हमें क्या करना चाहिये.

  1. हमें हमारी इमुनिटी पॉवर को maintain रखना होगा.
  2. पानी रोज ज्यादा से ज्यादा पिए. ऑक्सीजन level शरीर मैं बढ़ जायेगा,
  3. daily प्राणायाम एक्सरसाइज करे.
  4. अपनी diet को healthy रखिये.
  5. कोरोना के मरीजे के संक्रमण मैं ना आएये.
  6.  अगर कुछ लक्षण दिखे तो, घबराये मत mucormycosis treatment एक operation के जरिये एन्डोस्पोपिक सायनस सर्जरी की जाती है. और उस बुरशी को निकल दिया जाता है.

इस तरह हमें precaution लेना है. क्या करना चाहिए आपके problem का solution देता  रहेगा. but, मुझे लगा था. ये message आपको देना. बहुत important था. मेरा ऐसा कोई भी दोस्त इसका शिकार न बने. इस कारण ये आर्टिकल लिखाना जरुरी समजा. हम बहुत बढ़ा goal लेके चल रहे है. और उसमें हमारी youth है. so, ये message सिर्फ आपके लिए था.   

Leave a Comment